Menu
header photo

वेलो की घूमती बातें|

कुछ तो लोग लिखेंगे|

दुखद।

2017-06

मंदसौर की घटना दुखद।
किसानों की हालत दुखद।
सालों-साल की अनदेखी दुखद।
शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा दुखद।
गुस्सा और उससे निपटने का तरीका दुखद।
राजनीतिक दलों की स्वयं को लुभाने वाली राजनीति दुखद।
इन दुखो का समाचार चैनेलो पर होने वाला मज़ाकिया चीर-हरण सबसे ज्यादा दुखद

 

Go Back

Comment