Menu

VelaWrites

Powered By Google.

लोगो में दहशत जाटू इंजीनियर के आने से| आधी गर्लफ्रेंड और हिंदी मध्यम के बिज़नेस में कमी के आसार|

2017-05

SATIRE/FAKE NEWS

दिल्ली: भारत के इतिहास में ऐसा कई बार हुआ जब तीन फिल्मे एक साथ आ गयी हो| ऐसे मामलो में लोगो को जो फिल्म अच्छी लगे वो देख लेते है| पर ऐसा पहली बार हुआ है सिर्फ एक फिल्म तो न देखने की वजह से लोग थिएटर से दुरी बनाएंगे| इसी वजह से दूसरी फिल्मो का धंदा चौपट होने के पूरे आसार है|

 

दरअसल ज्यादातर लोगो को इस हफ्ते हाफ गर्लफ्रेंड और हिंदी मध्यम में से एक फिल्म का चुनाव करना था| पर बिना बताये बाबा राम रहीम की फिल्म जाटू इंजीनियर आ गयी साथ में| उनकी पिछली फिल्म की दहशत के साये में जी रहे लोगो ने इतनी जल्दी दूसरी फिल्म आने को पाकिस्तानी साज़िश का नाम दिया है| बाबू रोमियो जो उनकी पिछली फिल्म थिएटर में देख कर आये थे, ने बात की हमारे संवाददाता चतुर खुजली से:

चतुर: क्या सोचकर गए थे फिल्म देखने?

बाबू: हमे तो अपनी आइटम के साथ खाली जगह जाना था, तो हमे हमारे कानपूर के दोस्त ने बोलै इस फिल्म का थिएटर खाली मिलेगा| तो हम चले गए|

 

चतुर: तो कैसी रही आपकी दूसरी फिल्म| ये वाली तो आपने देखी नहीं होगी|  

बाबू: का बताये भैया, एक चुम्मी लिए ही थे की बाबा आ गए| हमरी आइटम ने सर पर घूंगट ले लिया और भजन लड़ने लगी| तो हमे भी फिल्म देखनी पड़ी|

 

चतुर: अहा! तो कैसी लगी फिल्म?

बाबू: हम तो अपनी गर्ल फ्रेंड को वही आधे में छोड़ आये| भैया जीको ई पसंद बानी उ बाद में एकता कपूर को भी देखल बानी|

 

चतुर: तो अब कौन सी फिल्म देखेंगे हाफ गर्लफ्रेंड  या फिर हिंदी मध्यम|

बाबू: ना भैया जाटू इंजीनियर लागल बानी थिएटर मा| हम न जाबे करि ऊके नज़दीक तनिक भी|

 

चतुर: अरे! पर कोई आपको ज़बरदस्ती थोड़ी न दिखा देगा|

बाबू: भैया आजकल माहौल बहुत ख़राब है| ज़बरदस्ती घुसा दिए तो| और वैसे ही बाबा की फिल्म की वजह से हमारी भली भांति वाली पूरी गर्लफ्रेंड हमारी हाल्फ गर्लफ्रेंड बन गयी| और हिंदी मध्यम तो हम है ही| का करिबे फिलम्वा देखे| अब तो जब हमारे रवि किशन बाबू की फिल्म आएगी तभी देखेंगे|

 

ऐसे ही हमारे संवाददाता ने बताया मॉल के अंदर लोगो ने आना कम कर दिया है| लोग भयभीत है| बाबा ने चमत्कार दिखाकर किसी दूसरी फिल्म की टिकट को अपनी में बदल दिया तो लेने के देने पड़ जायेंगे|


 

 

ये लेख सिर्फ मज़ाक के तौर पे लिखा गया है। इसका सत्य घटनाओ से कुछ लेना देना नहीं है। यदि ये आपकी भावनाएं आहत करता है तो आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर सीधे हाथ पे ऊपर की तरफ कांटे का निशान है, कृपया करके उसे दबाये और इस लेख से मुक्ति पाए।

 

 

 

 

Go Back

Comment